Tuesday, 8 January 2019

युवाओं पर सरकार गम्भीर, कर्मचारियों का भी रखेंगे ख्याल: सचिन पायलट

जयपुर: उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के आवास पर रीट लेवल प्रथम में चयनित हजारों बेरोजगारों ने पहुंचकर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का 21 किलो की माला पहनाकर स्वागत किया. सुबह 7 बजे से ही प्रदेशभर के विभिन्न जिलों से बेरोजगारों का पहुंचना शुरू हुआ था जो 1 बजे तक करीब ढाई हजार के पार पहुंच गया था. पुरुष अभ्यर्थियों के साथ ही महिला अभ्यर्थियों की भी भारी दादात उप मुख्यमंत्री के आवास पर देखने को मिली. तो वहीं सचिन पायलट से मुलाकात करने पहुंचे हजारों बेरोजगारों से मिलने के लिए सचिन पायलट खुद अपने बंगले से बाहर आए और सभी बेरोजगारों से मुलाकात कर उनका अभिवादन स्वीकार किया.

रीट लेवल प्रथम में चयनित 26 हजार बेरोजगारों को 9 जनवरी को हाईकोर्ट में होने वाली सुनवाई में सरकार की ओर से रखे जाने वाले पक्ष का इंतजार है. इसी कड़ी में सोमवार को प्रदेशभर के सभी 33 जिलों से हजारों बेरोजगारों ने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से मुलाकात कर उनका अभिवादन करने के साथ ही जल्द नियुक्ति की मांग की. वहीं सचिन पायलट ने सभी बेरोजगारों को विश्वास दिलाया की रीट लेवल प्रथम को लेकर अदालत में मजबूत पक्ष रखा जाएगा और इसी महीने नियुक्ति देने का प्रयास किया जाएगा. इसी के साथ सचिन पायलट ने कहा की अन्य भर्तियों जो भी अदालत में अटकी पड़ी हैं उनका भी जल्द रास्ता निकाला जाएगा.

गौरतबल है कि पिछले 7 महीनों से रीट लेवल प्रथम की नियुक्ति अदालती फेर में अटकी पड़ी है. वहीं युवाओं ने पायलट से जब पूछा कि भाजपा सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले इसका रास्ता साफ करने की कोशिश की थी लेकिन कांग्रेस के एक नेता द्वारा चुनाव आयोग को लिखे एक पत्र की वजह से नियुक्ति प्रक्रिया अटक गई थी. तो इस सवाल पर उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की भाजपा ने ही नियुक्ति प्रक्रिया को अटकवाया था. भाजपा सरकार में अगर सबसे ज्यादा कोई परेशान हुआ था तो वो है प्रदेश के बेरोजगार लेकिन अब बेरोजगारों के हित के काम कांग्रेस कर रही है तो भाजपा आरोप प्रत्यारोप की राजनीति कर रही है.

राजजगह बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बैनर तले पहुंचे सैकड़ों बेरोजगारों ने उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का 21 किलो की माला पहनाकर स्वागत किया. महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया की रीट लेवल प्रथम की भर्ती प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है लेकिन अदालत में मामला पहुंचने के चलते चयनित बेरोजगारों की नियुक्ति अटक गई थी. ऐसे में कांग्रेस ने इस भर्ती को जल्द पूरा करने का वादा किया था और अब 9 जनवरी को होने वाली सुनवाई में कांग्रेस ने मजबूत पक्ष रखने का विश्वास दिलाया है.

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.