Monday, 7 January 2019

सूचना और प्रसारण मंत्री ने आगामी लोकसभा चुनाव से पहले मीडिया पर नजर रखने के लिए सरकार द्वारा निजी एजेंसियों की सेवाएं लेने की खबरों का खंडन किया

MIB denied the news of government taking services of private agencies to monitor the media before the upcoming Lok Sabha elections

सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्यवर्धन राठौड़ ने इन खबरों का खंडन किया है कि सरकार आगामी लोकसभा चुनाव से पहले मीडिया पर नजर रखने के लिए निजी एजेंसियों की सेवाएं लेने के बारे में विचार कर रही है। एक समाचार पोर्टल ने हाल ही में, एक खबर प्रकाशित की थी जिसमें कहा गया था कि पत्र सूचना कार्यालय ने पिछले महीने एक टेंडर जारी किया है जिसमें प्रिंट, इलेक्‍ट्रॉनिक और सोशल मीडिया पर खबरों के संग्रह, विश्‍लेषण और फीडबैक के लिए निजी एजेंसियों से प्रस्‍ताव आमंत्रित किए हैं।

अपने ट्वीटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्‍ट के जरिए सूचना और प्रसारण मंत्री ने कहा कि प्रिंट और इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया पर समाचारों के संग्रह के लिए पहले भी इसी प्रकार के कॉन्ट्रैक्ट जारी किए गए थे।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे - अभी वोट करें

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.