Thursday, 14 February 2019

मोदी ने चली ऐसी चाल जिससे किसान हो जायेंगे मालामाल,आचार संहिता का नहीं होगा कोई असर

मोदी ने चली ऐसी चाल जिससे किसान हो जायेंगे मालामाल,आचार संहिता का नहीं होगा कोई असर
किसानों के खाते में चार-चार हजार डालने की मोदी सरकार की घोषणा पर चुनाव आचार संहिता का कोई असर नहीं होगा। इस तरह लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद भी सरकार किसानों के खाते में एक साथ 4 हजार रुपये डाल सकेगी।
घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - Earn Free
दरअसल अंतरिम बजट में घोषित प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को दो किस्तों का भुगतान सरकार एक साथ करने की तैयारी कर रही है। इससे किसानों के खाते में सीधे 4,000 रुपये आएगा। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने 1 फरवरी को अंतरिम-बजट में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) नामक प्रत्यक्ष आय सहायता योजना की घोषणा की थी, जिसके तहत लगभग 12 करोड़ लघु और सीमांत किसानों को प्रति वर्ष 6000 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा। यह रकम सीधे उनके बैंक खातों में तीन किश्तों में दिए जाएंगे।
घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - Earn Free
इस योजना में वो किसान शामिल होंगे जिनकी जोत दो हेक्टेयर तक है। पीयूष गोयल ने यह भी कहा था कि यह योजना इसी वित्तीय वर्ष में एक दिसंबर 2018 से शुरू की जाएगी, और मार्च 2019 तक आय सहायता की पहली 2,000 रुपये की किस्त का भुगतान कर दिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक , 'राज्य सरकारें योजना के लाभार्थी किसानों की पहचान कर रही हैं। सूत्रों ने बताया कि इस योजना को चालू वित्तवर्ष में लागू किया जा रहा है, इसलिए अगले महीने किसी भी समय चुनाव आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी योजना पर कोई असर नहीं होगा।
जानकारों का कहना है कि मोदी ने जानबूझ कर ऐसी योजना की घोषणा करवायी है जिसका लाभ आगामी लोक सभा चुनावों में उठाया जा सके। हालांकि सवाल यह भी उठ रहा है कि महज चार या छह हजार रुपयों से किसानों का क्या भला होगा ? इस पर सरकारी सूत्रों का कहना की सीमांत किसानों को इस वक्त बीज और खाद के लिए पैसे की आश्कता होती है, वो समय पर इस राशि का सदुपयोग कर पायेगा।