Tuesday, 12 March 2019

देखे, रमजान में लोकसभा चुनाव पर भड़के जावेद अख्तर, सोशल मीडिया पर दिया बयान..

अगामी लोकसभा चुनाव 2019 का ऐलान हो गया हैं। बीते दिनों ही चुनाव की तारीखें आ चुकी हैं। चुनाव की तारीख सामने आते ही कई तरह की खबरें आने लगी। कई लोगों ने तो चुनाव की तारीख पर सियासत भी शुरू कर दी है। सोशल मीडिया पर आपको इसकी झलक देखने को साफ मिल जाएगी। आपको बता दें कि जिस वक्त लोकसभा चुनाव है उसी समय रमजान भी हैं। ऐसे में सभी अपनी—अपनी राय रख रहे हैं। लोगों को तो बस मौका मिलना चाहिए बोलने का। यही कारण है कि कई लोगों ने धार्मिक जामा भी पहना रहे हैं। लोगों का कहना है कि रमजान में तारीखों का ऐलान जान बूझकर किया गया है। कई लोगों ने तो निर्वाचन आयोग से रमजान में चुनाव की तारीखों को बदलवाने की मांग भी की है। हालांकि इस तरह की बहस से मशहूर लेखक और गीतकार जावेद अख्तर काफी नाराज हैं। उन्होंने एक ट्वीट कर अपना गुस्सा निकाला है। जोवद अख्तर ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘रमजान और चुनाव के बारे में हो रही बहस घिनौनी है। चुनाव को रमजान से जोड़ना ठीक नहीं है। ये धर्मनिरपेक्षता का एक विकृत संस्करण है, जो मेरे लिए असहनीय है। चुनाव आयोग को इस पर विचार नहीं करना चाहिए।’

आपको बता दें कि, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) और ऑल इंडिया मुस्लिम वुमन पर्सनल लॉ बोर्ड ने लोकसभा चुनाव की तारीखों पर आपत्ति जताई है। चुनाव आयोग ने चुनाव की तारीख को बदलने पर विचार करने की मांग भी की है।

I find this whole discussion about Ramzan and elections totally disgusting . This is the kind of distorted and convoluted version of secularism that to me is repulsive , revolting and intolerable . EC shouldn’t consider it for a second .

— Javed Akhtar (@Javedakhtarjadu) March 11, 2019

गीतकार जावेद अख्तर सोशल मीडिया पर हमेशा एक्टिव रहते है। वो कई विषयों पर अपनी राय देते रहते हैं। हाल ही में जावेद ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।