Friday, 22 February 2019

देखें ,जूते उतारने के बाद आपके पांव से भी आती है बदबू, तो आजमाएं यह उपाय!..

देखें ,जूते उतारने के बाद आपके पांव से भी आती है बदबू, तो आजमाएं यह उपाय!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

आप मोजे उतारते हैं तो उनके पांव से बदबू आती है और कई लोगों के पैरों से ज्यादा बदबू आती है। शायद आपके साथ भी ऐसा होता होगा, अगर आपके साथ या आपके किसी परिचित के साथ ऐसा होता है तो आप घर पर ही कुछ तरीकों से अपने पांव की बदबू को दूर कर सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि किस तरह से आप अपने पैरों की बदबू को दूर भगा सकते हैं।
यह है कारगर उपाय
जानकारी के लिए हम आपको बता दें नमक एक ऐसी चीज है जो कि शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। अगर आपको पैरों से भी बदबू आती है तो गर्म पानी में नमक डालकर पैरों को उसमें भिगोकर रखें और उसके बाद पैरों को ठंडे पानी से धो लें।
ऐसा करने से आपको कुछ ही दिन में फर्क महसूस होगा और अगर आप सादे नमक के स्थान पर काले नमक का इस्तेमाल करेंगे तो ज्यादा फायदा नजर आएगा।

घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
और भी है कई उपाय
इसी के साथ बेकिंग सोडा भी आपके काम आ सकता है। खाने की कई चीजों में डलने वाले बेकिंग सोडा पैरों की बदबू को दूर करने में भी बहुत काम करता है। इसके लिए एक टब में गुनगुना गर्म पानी लें और उसमें दो बड़े चम्मच बेकिंग सोडा के साथ नींबू का रस डालें और उसमें दस मिनट तक पैरों को डुबोकर रखें। ऐसा नियमित रुप से करने से आपके पांव की बदबू धीरे-धीरे खत्न होने लगती है।

घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.

Saturday, 16 February 2019

देखें ,माउथवाश का इस्तेमाल बढ़ा सकता है बीमारी का खतरा!..

देखें ,माउथवाश का इस्तेमाल बढ़ा सकता है बीमारी का खतरा!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

मुंह की दुर्गन्ध से हर कोई परेशान रहता है और इसे दूर करने के लिए आपको कई तरह के उपाय करने पड़ते हैं. कहीं आप कुछ खाते हैं तो कहीं किसी केमिकल युक्त लिक्विड का उपयोग करते हैं. माउथवॉश का इस्तेमाल भी कई लोग करते है. आपको बता दें, माउथवॉश में एंटी-बैक्टीरियल तत्व मौजूद होते हैं जो मुंह में माइक्रोब्स के बनने पर असर डालते हैं, जिनसे मुंह में नाइट्रिक ऑक्साइड बनने में कमी आ जाती हैं और इससे शरीर का मेटाबोलिज्म बिगड़ जाता है जो डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को काफी हद तक बढ़ा देता है. अगर भी इसका उपयोग करते हैं तो आपको बता देते हैं कण बातों का खतरा हो सकता है.
डायबिटीज का खतरा
* एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि रोजाना दिन में कम से कम 2 बार माउथवॉश का इस्तेमाल करने वाले लोगों में दूसरे लोगों के मुकाबले डायबिटीज का खतरा 55 फीसदी तक बढ़ जाता है.
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
* माउथवॉश के इस्तेमाल से सेहत को फायदे कम और नुकसान ज्यादा होते हैं. इस रिसर्च में लगभग 1,206 मोटापे से ग्रस्त लोगों को शामिल किया गया है, जिनकी उम्र 40 साल से 65 साल के बीच है और जिनको किसी प्रकार की डायबिटीज या दिल से जुड़ी बीमारी नहीं है.
* इन लोगों में करीबन 43 फीसदी लोग दिन में एक बार माउथवॉश का इस्तेमाल करते हैं, जबकि 22 फीसदी लोग दिन में 2 बार माउथवॉस का उपयोग करते पाए गए. इन सभी लोगों में ब्लड शुगर का खतरा बहुत ज्यादा देखा गया है.
घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.
देखें ,रात में खट्टी चीज़ें खाने से हो सकती हैं ये बीमारियां!..

देखें ,रात में खट्टी चीज़ें खाने से हो सकती हैं ये बीमारियां!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

रात के समय हमे कई चीज़ों को अवॉयड करना पड़ता है, यहां हम खाने की बात कर रहे हैं और रात के समय जब भी खाना खाते हैं तो कुछ ऐसी चीज़ों का ध्यान रखने की जरूरत है जिससे आपकी सेहत को बुरा असर ना पड़े. इस दौड़भाग भरी जिंदगी में हम खान पान का ध्यान नहीं रख पाते है. घर के बड़े-बुजुर्ग अक्सर रात के खाने में खट्टी चीजें खाने से मना करते हैं. दरअसल, इस तरह के भोजन में अम्लीय तत्व होते हैं, जिन्हें खाने से आपको गैस की समस्या हो सकती है. अगर ये चीज़ें रात में खाई जाती है तो आपके पाचन में परेशानी आ सकती है और आपको रात में समस्या का सामना करना पड़ सकता है.
अगर आपको भी इन परेशानी से बचना है तो रात में कोई भी खट्टी चीज़ों का सेवन न करें.
इससे आपको बीमारी भी हो सकती है और इसी के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं. स्वस्थ रहना चाहते हैं तो इन चीज़ों से दूर रहे और खुद को स्वस्थ बनाएं रखें.
हो सकती है ये बीमारियां
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
* अच्छे स्वास्थ्य के लिए इन तीनों दोषों में अच्छा संतुलन होना जरूरी होता है. आयुर्वेद विशेषज्ञ बताते है, ‘रात में खट्टे भोजन की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि इससे वात दोष बिगड़ सकता है.
* संध्याकाल के दौरान वायु ऊपर की ओर होती है. इस स्थिति में खट्टा भोजन वात दोष को और बिगाड़ सकता है, अच्छा हो कि आप रात में खट्टा भोजन लेने से परहेज करें और सभी दोषों का संतुलन बनाए रखें.

घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.
देखें ,एक ही लड़की को पाने के लिए दो दोस्त लड़ मरें, ये हुआ अंजाम जानकर सहम जाएंगे आप!..

देखें ,एक ही लड़की को पाने के लिए दो दोस्त लड़ मरें, ये हुआ अंजाम जानकर सहम जाएंगे आप!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

जयपुर। आज हम आप लोगो को एक ऐसी घटना के बारे मे बताने जा रहे है, जिसको पड़ने के बाद आप भी अपने दोस्त के साथ जाने मे 100 बार सोचेंगे, आप सभी को बता दें कि ये मामला मध्यप्रदेश के इंदौर से हम लोगो के सामने आया है, जहां पर इश्क में एक युवक को कातिल बना दिया, आप ने बहुत सुना होगा कि प्यार मे लोग पागल हो जाते है, या प्यार मे दीवाने जो जाते है, पर यहां तो प्यार ने अपने ही दोस्त का कातिल बना दिया।
आप सभी को बता दें कि ये घटना मध्यप्रदेश के इंदौर से हम लोगो के सामने आई है, जहां इश्क में एक युवक आरोपी बन बैठा, रिपोर्ट के मुताबिक हमे पता लगा है, कि युवक पर आरोप है कि उसने अपने ही दोस्त को मौत के घाट उतार दिया, रिपोर्ट के मुताबिक पता लगा है, कि मरने वाले का नाम धीरज बताया जा रहा है, जो कि दसवीं कक्षा का छात्र था।
बता दें कि धीरज पढ़ाई के साथ साथ फोटोग्राफी का काम भी करता था, रिपोर्ट के मुताबिक पता चला है, कि धीरज अपने घर के पास में रहने वाली एक लड़की से प्यार करता था, और वो लड़की भी धीरज से प्यार करती थी, वही धीरज का दोस्त भी उस लड़की से एक तरफा प्यार करता था, धीरज ये बात नही जानता था।
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
पर धीरज का दोस्त ये बात जानता था कि लड़की धीरज को पसंद करती है, एक दिन आरोपी रोहुल ने धीरज और उस लड़की को मिलते हुऐ देख लिया, ये देखने के बाद आरोपी रोहुल का खून खौल गया और फिल उसने धीरज को को रास्ते से हटाने की ठान ली, जब धीरज लड़की से फिर से मिलने गया तो राहुल ने उसे बीच रास्ते मे पकड़ लिया और कहा कि वो उसे घर छोड़ देगा।
इसके बाद राहुल धीरज को अपने साथ बाइक पर बिठाकर किसी दोस्त के पास चलकर आने की कहता हुआ ले गया, और फिर थोड़ी देर बाद एक ब्रिज पर ले जाकर फोटोग्राफी करने का कहा, इसी दौरान राहुल ने धीरज के सिर पर पत्थर से वार कर दिया, जिसके कारण धीरज घायल हो गया और ज़मीन पर गिर गया।
मौका देख राहुल ने धीरज का पत्थर से सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी और फिर वहा से भाग गया, लोगों ने शव देख पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर घटना का पर्दाफाश करते हुए। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.
देखें ,शादी की रात को बाप ने अपनी ही बेटी के साथ बनाएं संबंध, और फिर!..

देखें ,शादी की रात को बाप ने अपनी ही बेटी के साथ बनाएं संबंध, और फिर!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

जयपुर। आज हम आप लोगो को एक ऐसी घटना के बारे मे बताने जा रहे हैं, जिसको पड़ने के बाद आपके पैरों तले ज़मीन खिसक जाएंगी आप सभी को बता दें कि ये मामला डेनमार्क से हम लोगो के सामने आई है, जहां पर एक बाप ने शादी की रात अपनी ही बेटी के साथ बलात्कार कर डाला, आप सभी को बता दें कि आरोपि पिता ने अपनी शादी के बाद रिसेप्शन पार्टी दी थी, जिसमे उसकी पहली पत्नि से जो बेटी है, वो भी वहां आई थी।
बता दें कि बेटी ने अपने पिता की रिसेप्शन पार्टी मे इतनी शराब पी ली की वो उसे होश नही था कि वो कहा है, पित और कुछ रिश्तेदारों ने लड़की को उसके कमरे मे पहुंचा दिया, बता दें कि जब पार्टी खत्म हुई तो पिता अपने कमरे मे जा कर अपनी पत्नि और बेटी के बीच मे जा कर सो गया, और फिर रात मे जो हुआ उसे सुन्ने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे।
बता दें कि पिता ने नशे मे हो रही अपनी बेटी से साथ बलात्कार कर डाला, आप सभी को बता दें कि लड़की ने अपने पिता पर बलात्कार का आरोप लगाया,आरोपी पिता पर आरोप सिद्ध होने के बाद कोर्ट ने उसे ढाई साल की सजा सुनाई है।
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
आरोपि पिता ने अपने बयान मे कहा है, कि उसे कुछ याद नही, पिता ने कहा है कि उसने अपनी पत्नी समझकर संबध बनाये थे, लड़की शराब के नशे मे इतनी चूर थी की वो बलात्कार के समय कुछ नही कर पाईकोर्ट ने इस मामले में आरोपी पिता को ढाई साल की सजा सुनाई है।
निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी
घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.
क्या प्रेग्नेंट है प्रियंका चोपड़ा? ये तस्वीरें कर रही है इशारा

क्या प्रेग्नेंट है प्रियंका चोपड़ा? ये तस्वीरें कर रही है इशारा

is priyanka chopra pregnant
मुंबई: एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा अक्सर अपनी तस्वीरों को लेकर सुर्खियों में रहती है। हाल ही में पीसी को न्यूयॉर्क फैशन वीक में देखा गया। इस दौरान प्रियंका ने चैक मीनी स्कर्ट और ब्लैजर पहना था। इस इवेंट की कुछ तस्वीरें सामने आई है, इन तस्वीरों में पीसी का बेबी बंप नजर आ रहा है।
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,Priyanka Chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download
इन तस्वीरों को देखने के बाद ही कयास लगाए जा रहे है कि प्रियंका जल्द ही मां बनने वाली है। हालांकि कई सूत्रों का कहना है कि ये खबर महज एक अफवाह है।
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,Priyanka Chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download
वैसे पीसी और निक की तरफ से इस बात पर कोई बयान नहीं आया है।
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,Priyanka Chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download
वर्कफ्रंट की बात करें तो प्रियंका चोपड़ा फरहान अख्तर की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’ कर रही हैं।
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,priyanka chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download
इस फिल्म के कुछ हिस्से की शूटिंग प्रियंका शादी से पहले ही कर चुकी थी। फिल्म का निर्देशन सोनाली बोस कर रही हैं।
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,Priyanka Chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download
इसके अलावा वह फिल्म ‘इजन्ट इट रोमांटिक’ में नजर आएंगी। 
PunjabKesari, प्रियंका चोपड़ा इमेज फोटो वॉलपेपर फुल एचडी फोटो गैलरी फ्री डाउनलोड,Priyanka Chopra image photo wallpaper full hd photo gallery free download

घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.
देखें, हनीमून पर पति पत्नी ने पी शराब,पत्नी को लगी लत,पड़ा वैवाहिक जीवन पर असर..

देखें, हनीमून पर पति पत्नी ने पी शराब,पत्नी को लगी लत,पड़ा वैवाहिक जीवन पर असर..

आज एक बार फिर मै कुछ अज़ब गजब तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

जयपुर, कहते है कि शराब स्वास्थ के लिए हानिकारक होती है। लेकिन फिर भी लोग इसका सेवन करते है। ये भारत की ही नहीं बल्कि सभी देशों की समस्या बन गई है। आज हम आपको एक ऐसा ही मामला बताने जा रहे जिसके बारे में जानकर आपके होश उड़ जाएंगे।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये मामला मुरादाबाद से सामने आय़ा है। जहां पर दूल्हा दूल्हन ने अपने हनीमुन पर खूब जाम छलकाएं।
लेकिन वहां से आने के बाद दूल्हन को शराब की तल लग गई। जिसके चलते पति पत्नी व परिवार के बीच दरार पड़ गई।”दोनो एक दूसरे से अलग हो गए। पत्नी ने पति के खिलाफ थाने में तहरीर दी।
पति पर परेशान करके घर से निकालने का आरोप लगाया। पुलिस ने पति को थाने बुलाया तो पत्नी के शराब पीने की बात सामने आई।”जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे में तैनात इंजीनियर की शदी तान साल पहले बरेली की रहने वाली युवती से हुई थी।
महिला भी सरकारी विभाग में काम करती है। दोनो की शादी हंसी खुशी के साथ संपन हुई। शादी के बाद नव दंपती हमीमून के लिए बाहर चले गए।”पति ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी ने उससे शराब लाने के लिए मांग की।
पहली बार मांग की थी इस वजह से मना नहीं किया औऱ खरीदकर ला दिया।
घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये
पत्नी पत्नी हनीमून के बाद घर लौट आए। दोनों का वैवाहिक जीवन ठीक ठाक चल रहा था। पति ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कई बार पति ने खुद खरीदकर शराब लाकर दी। जब पति ने शराब लाने से इंकार किया तो पत्नी खुद ही दुकान से शराब खरीदने लगी।
बात पति पत्नी के बाद परिवार में फैल गई।
इसके बाद पति पत्नी के बीच रार पड़ गई। पत्नी पति को छोड़कर अपने मायके चली गई। सीओ सिविल लाइंस राजेश कुमार ने बताया कि एक युवती ने पति और उसके मां बाप के खिलाफ शिकायत दी है। दोनों पक्षों को बुलाया गया है।

घर बैठे फ्री पैसे कमाए क्लिक करे- यहाँ जाये
पोस्ट को अधिक से अधिक लाइक एवं शेयर करें.

Thursday, 7 February 2019

देखें ,जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है ‘तुलसी’, बस ऐसे करें सेवन!..

देखें ,जीवन के लिए बेहद चमत्कारी है ‘तुलसी’, बस ऐसे करें सेवन!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

आपको बता दें तुलसी उम्रर्वेदिक चिकित्सा पोस्ट्धति में सबसे ज्यादा प्रभावशाली औषधि के रूप में जानी जाती है। कैंसर और ऐसी अनेक लाइलाज बीमारियों में तुलसी चमत्कारिक रूप से फायदा पहुंचाती है। हम आपको बता दें तुलसी के पत्तों के रस को हल्का गर्म कर लें। अब दो-दो बूंद कान में टपकाएं। इससे कान का दर्द दूर होता है।

इससे भी होते है कई फायदे

हम आपको बता दें दांत दर्द में काली मिर्च और तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दातों के नीचे रखने से बहुत आराम मिलता है। वहीं तुलसी के रस को गुनगुने पानी में मिलाकर कुल्ला करने से गले की बीमारियां दूर हो जाती हैं।
वही हम आपको बता दें इसके सेवन से उल्टी में आराम मिलता है। तुलसी के पत्ते का रस दिन में तीन बार पीने से भूख बढ़ती है। साथ ही साथ 2 ग्राम तुलसी की मंजरी को पीसकर काले नमक के साथ दिन में तीन-चार बार लेने से पेट दर्द में बहुत आराम मिलता है।

यह भी होते है इससे फायदे



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इसी के साथ हम आपको बता दें तुलसी के पत्तों के रस को हल्का गर्म कर लें। अब दो-दो बूंद कान में टपकाएं। इससे कान का दर्द दूर होता है। कान के पीछे की सूजन को ठीक करने के लिए तुलसी के पत्ते, अरंड की कोपलें और चुटकी भर नमक को पीसकर उसका गुनगुना लेप लगाएं। इससे कान के पीछे की सूजन खत्म हो जाती है। हम आपको बता दें दांत दर्द में काली मिर्च और तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दातों के नीचे रखने से बहुत आराम मिलता है।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

काले और भद्दे होठों को गुलाबी बनाने का यह है 3 सबसे आसान घरेलू तरीका

काले और भद्दे होठों को गुलाबी बनाने का यह है 3 सबसे आसान घरेलू तरीका

आप सभी लोगो के होठों और पैरों की एड़ियों का फटना व काले धब्बों का पड़ना आम बात है. अक्सर लोग होंठों की समस्या से परेशान रहते है. ऐसे में ज्यादातर लोग अलग अलग उपाय करते है. सुंदर होठों की मुस्कराहट बहुत अच्छी दिखती है. लेकिन कई बार कई कारणों की वजह से होठों में कालापन आने लग जाता है. जिसके कारण होंठ काले हो जाते है और आपकी अच्छी मुस्कुराहट लोगो से छुपानी पड़ती है. आज हम आपको होंठों का कालापन दूर करने के घरेलू उपाय बताएँगे. तो चलिए जानते हैं.

Image result for pink lips before and after

1. होठों का कालापन दूर करने के उपाय में आलू का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद साबित होता है. कच्चे आलू के कटे हुए हिस्सो को होंठों पर रगड़ने से कालापन दूर होता है. 


Image result for pink lips



2. होठों की लालिमा यानी खूबसूरती कायम रखने के लिए चीनी के साथ नारियल तेल की कुछ बूंदे मिलाकर पेस्ट तैयार करले और टूथ ब्रश की सहायता से इससे धीरे-धीरे अपने होठों को स्क्रब करें. इससे होठों का कालापन दूर होगा और साथ में प्राकृतिक चमक भी मिलेगी.



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

3. चुकंदर स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है. शरीर में तेज़ खून बनाने में मदद करता  है. चुकंदर होंठ के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. चुकंदर को काटकर उसके टुकड़े को होंठों पर लगाने से होठ गुलाबी व चमकदार बनते हैं.

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, ऐसे करें शिव चालीसा का पाठ, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं..

देखें, ऐसे करें शिव चालीसा का पाठ, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं..

आज एक बार फिर मै कुछ धर्मं एवं अध्यात्म से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

पूजा पाठ में शिव चालीसा का बहुत महत्व है. शिव चालीसा के सरल शब्दों से भगवान शिव को प्रसन्न किया जा सकता है. शिव चालीसा के पाठ से कठिन से कठिन कार्य को बहुत ही आसानी से किया जा सकता है. शिव चालीसा की 4 पंक्तियां सरल शब्दों में विद्यमान हैं, जिनकी महिमा बहुत ही ज्यादा है. भोले स्वभाव के होने के कारण भगवान भोले भंडारी शिव चालीसा के पाठ से आसानी से मान जाते हैं और भक्त को मनचाहा वरदान दे देते है. इसलिए शिव चालीसा के पाठ की बहुत महिमा है.

जानते हैं शिव चालीसा का पाठ कैसे किया जाए-

- सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहने.

- अपना मुंह पूर्व दिशा में रखें और साफ आसन पर बैठें.

- पूजा में धूप दीप सफेद चंदन माला और सफेद 5 फूल भी रखें और मिश्री को प्रसाद के लिए रखें.

- पाठ करने से पहले गाय के घी का दिया जलायें और एक लोटे में शुद्ध जल भरकर रखें.

- भगवान शिव की शिव चालिसा का तीन बार पाठ करें.

- शिव चालीसा का पाठ बोल बोलकर करें, जितने लोगों को यह सुनाई देगा उनको भी लाभ होगा.

- शिव चालीसा का पाठ पूर्ण भक्ति भाव से करें और भगवान शिव को प्रसन्न करें.

- पाठ पूरा हो जाने पर लोटे का जल सारे घर मे छिड़क दें और थोड़ा सा जल स्वयं पी लें. मिश्री प्रसाद के रूप में खाएं औऱ बच्चों में भी बांट दें.

शिव चालीसा पढ़कर ऐसे पाएं मनचाहा वरदान-

- ब्रह्म मुहूर्त में एक सफेद आसन पर बैठें.

- उत्तर पूर्व या पूर्व दिशा की तरफ मुंह करें.

- गाय के घी का दिया जला कर शिव चालीसा का 11 बार पाठ करें.

- जल का पात्र रखें और मिश्री का भोग लगाएं.

- एक बेलपत्र भी उल्टा करके शिवलिंग पर अर्पण करें.

- मनचाहे वरदान की इच्छा करें और यह पाठ 4 दिन लगातार करें.

शिव चालीसा से होंगे ढेरों फायदे-



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

1. मन का भय यदि है तो निम्न पंक्ति पढ़ें. इस पंक्ति को 27 बार सुबह भगवान शिव के सामने पड़ने से लोभ होगा.

जय गणेश गिरीजा सुवन’ मंगल मूल सुजान|

कहते अयोध्या दास तुम’ देउ अभय वरदान||

2. दुखों से मुक्ति पाने के लिए ये पंक्ति पढ़ें.

देवन जबहिं जाय पुकारा’ तबहिं दुख प्रभु आप निवारा||

- इस पंक्ति को 11 बार रात्रि में पढ़ कर सोएं और कार्य सिद्ध हो जाने पर निर्धन लोगों को सफेद मिठाई जरूर बाटें.

3. किसी भी कार्य को सिद्ध करने के लिए निम्न पंक्ति पढ़ें.

पूजन रामचंद्र जब कीन्हा’ जीत के लंक विभीषण दीन्हा||

- इस पंक्ति को 13 बार शाम के समय पढ़ें.

- ऐसा लगातार 27 दिन जरूर करें.

4. मनोवांछित वर प्राप्ति के लिए करें इस पंक्ति का पाठ करें.

कठिन भक्ति देखी प्रभु शंकर’ भाई प्रसन्न दिए इच्छित वर||

- इस पंक्ति को मनोवांछित वर की प्राप्ति के लिए सुबह के समय 54 बार पाठ करें. ऐसा आपको 21 दिन करना है.

5. धन धान्य की वृद्धि के लिए इस पंक्ति का पाठ करें.

धन निर्धन को देत सदा ही’ जो कोई जांचे सो फल पाही||

- इस पंक्ति को 11 बार सुबह के समय पढे़ं.

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें ,इन चमत्कारी नुस्खों की मदद से अब आप भी डेंगू जैसी बिमारी से छुटकारा पा सकते हैं!..

देखें ,इन चमत्कारी नुस्खों की मदद से अब आप भी डेंगू जैसी बिमारी से छुटकारा पा सकते हैं!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

जयपुर। जैसा की आप सभी देख रहे हैं कि आज कल डेंगू बीमारि का बहुत ज़ोर चल रहा है, बहुत से लोग तो इस बीमारि का नाम सुनते ही डर जाते हैं, हम लोग मानते हैं, कि बीमारियों डरना आपका वजिब है, पर आप लोगो को बता दें कि आप कुछ चमत्कारी नुस्खों की मदद से अपने आप और अपने घर वालों को डेंगू जैसी बिमारी से छुटकारा दिला सकते हैं, अगर आप भी अपने परिवार को डेंगू जैसी बिमारी से बचाना चाहते हैं, तो हमारा पोस्ट पूरा पड़े।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, सीता माता की तरह ही हुआ था लक्ष्मी माँ का भी हरण!..

देखें, सीता माता की तरह ही हुआ था लक्ष्मी माँ का भी हरण!..

आज एक बार फिर मै कुछ धर्मं एवं अध्यात्म से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

पुरानी कहानियों और कथाओं के अनुसार कई ऐसी बातें बताई गई है जिन्हे सुनने के बाद हैरानी होती है. ऐसे में आप सभी ने शायद ही सुना होगा कि सीता की तरह माता लक्ष्मी का भी हरण हो गया था. जी हाँ, यह बात कई लोगों ने कहीं ना कहीं पौराणिक कथाओं में सुनी होगी और कई लोगों ने नहीं भी. ऐसे में अब आज हम आपको इसकी पौराणिक कथा के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे पढ़ने के बाद आ हैरान रह जाएंगे. आइए जानते हैं.

पौराणिक कथा - देवासुर संग्राम में देवताओं के पराजित होने के बाद सभी देवगुरु बृहस्पति के पास पहुंचे. इंद्र ने देवगुरु से कहा कि असुरों के कारण हम आत्महत्या करने पर मजबूर है.
देवगुरु सभी देवताओं को दत्तात्रेय के पास ले गए. उन्होंने सभी देवताओं को समझाया और फिर से युद्ध करने की तैयारी करने को कहा. सभी ने फिर से युद्ध किया और हार गए. वे फिर से विष्णुरूप भगवान दत्तात्रेय के पास भागते हुए पहुंचे. वहां उनके पास माता लक्ष्मी भी बैठी थी. दत्तात्रेय उस वक्त समाधिस्थ थे. तभी पीछे से असुर भी वहां पहुंच गए. असुर माता लक्ष्मी को देखकर उन पर मोहित हो गए. असुरों ने मौका देखकर लक्ष्मी का हरण कर लिया. दत्तात्रेय ने जब आंख खोली तो देवताओं ने दत्तात्रेय को हरण की बात बताई. तब दत्तात्रेय ने कहा, ‘अब उनके विनाश का काल निश्चत हो गया है.’ तब वे सभी कामी बनकर कमजोर हो गए और फिर देवताओं ने उनसे युद्ध कर उन्हें पराजित कर दिया. जब युद्ध जीतकर देवता भगवान दत्तात्रेय के पास पहुंचे तो वहां पहले से ही लक्ष्मी माता बैठी हुई थी. दत्तात्रेय ने कहा कि लक्ष्मी तो वहीं रहती है जहां शांति और प्रेम का वातारण होता है. वह कभी भी कैसे कामियों और हिंसकों के यहां रह सकती है?

एक अन्य कथा अनुसार - दैत्येगुरु शुक्राचार्य के शिष्य असुर श्रीदामा से सभी देवी और देवता त्रस्त हो चले थे. सभी देवता ब्रह्मदेव के साथ विष्णुजी के पास पहुंचे. विष्णुजी ने श्रीदामा के अंत का आश्वासन दिया. श्रीदामा को जब यह पता चला तो वह श्रीविष्णु से युद्ध की योजना बनाने लगा. दोनों का घोर युद्ध हुआ. लेकिन श्रीदामा पर विष्णुजी के दिव्यास्त्रों का भी कोई प्रभाव नहीं पड़ा, क्योंकि शुक्राचार्य ने उसका शरीर वज्र के समान कठोर बना दिया था. अंतत: विष्णुजी को मैदान छोड़कर जाना पड़ा. इस बीच श्रीदामा ने विष्णु पत्नी लक्ष्मी का हरण कर लिया. तब श्री विष्णु ने कैलाश पहुंचकर वहां पर भगवान शिव का पूजन किया और शिव नाम जपकर “शिवसहस्त्रनाम स्तोत्र” की रचना कर दी.



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

जब के साथ उन्होंने “हरिश्वरलिंग की स्थापना कर 1 ब्रह्मकमल अर्पित करने का संकल्प लिया. 999 ब्रह्मकमल अर्पित करने के बाद उन्होंने देखा की एक ब्रह्मकमल कहीं लुप्त हो गया है, तब उन्होंने अपना दाहिना नेत्र निकालकर ही शिवजी को अर्पित कर दिया. यह देख शिव जी प्रकट हो गए. शिवजी ने इच्‍छीत वर मांगने को कहा. तब श्री विष्णु ने लक्ष्मी के अपहरण की कथा सुनाई. तभी शिव की दाहिनी भुजा से महातेजस्वी सुदर्शन चक्र प्रकट हुआ. इसी सुदर्शन चक्र से भगवान विष्णु ने श्रीदामा का का नाश कर महालक्ष्मी को श्रीदामा से मुक्त कराया तथा देवों को दैत्य श्रीदामा के भय से मुक्ति दिलाई.

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें ,फायदेमंद है ‘गन्ने का रस’, बस ऐसे कभी ना करें उपयोग!..

देखें ,फायदेमंद है ‘गन्ने का रस’, बस ऐसे कभी ना करें उपयोग!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

गन्ने का रस सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा जॉन्डिस जैसी घातक बीमारी से लेकर गर्भवती महिलाओं के लिए यह बेहतरीन पेय है। एनीमिया, कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचने के लिए भी गन्ने का रस काफी कारगर साबित होता है। लेकिन आज हम आपको गन्ने के रस से होने वाले नुकसान के बारे में बताते हैं। आइए जानते हैं गन्ने के रस के नुकसान और इसे कब पीना चाहिए।

यह है इसके फायदे

आपको बता दें गन्ने का जूस पीते वक्त दुकान की साफ सफाई का ध्यान रखें। कहीं दुकान में बहुत ज्यादा मक्खियां हुई तो ऐसी दुकानों से गन्ने का जूस पीने से बचें। इससे संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।
वही गन्ने के जूस में काफी मात्रा में कैलोरी पाई जाती है, जिससे वजन बढ़ने का डर रहता है। इसलिए जो लोग अपनी फिटनेस को लेकर काफी सजग रहते हैं उन्हें अधिक मात्रा में गन्ने के रस का सेवन नहीं करना चाहिए।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इसी के साथ हम आपको बता दें रास्तों में खड़ी किसी भी दुकान से गन्ने का जूस न पीयें। ऐसी दुकानों से गन्ने का रस पीने से पेट में दर्द आदि समस्या भी हो सकती है। साथ ही फ्रीज में रखे गन्ने का रस पीते हैं, उनके लिए यह फूड पॉइजनिंग का कारण बन सकता है।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

इस फल के सेवन से समाप्त हो जाते हैं ये गंभीर रोग, इसका नाम जरुर जान लें

इस फल के सेवन से समाप्त हो जाते हैं ये गंभीर रोग, इसका नाम जरुर जान लें

आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बताने जा रहे है जो हमारे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. इस फल का नाम स्टार फ्रूट है. इस फल के सेवन से आपको बहुत से बीमारियों से छुटकारा मिल सकता है. जो लोग शारिरिक रूप से कमजोर होते है उन्हें स्टार फ्रूट का सेवन करना चाहिए. स्टार फ्रूट का सेवन करने से कमजोरी दूर होती है.

Image result for star fruit tree

त्वचा सम्बंधित परेशानि जैसे फोडे, फुंसी,दाग धब्बे आदि से परेशान है तो आपको स्टार फ्रूट का सेवन करना चाहिए.  जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है उन्हें स्टार फ्रूट का सेवन करना चाहिए. क्योंकि स्टार फ्रूट में मल्टीविटामिन पाए जाते है जो हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायता प्रदान करते है.

Image result for star fruit tree


स्टार फ्रूट का उपयोग करने से बॉडी को एनर्जी मिलती है. इसका इस्तेमाल कालीमिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, मिर्ची पाउडर के साथ खाने में किया जा सकता है.



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

Image result for star fruit tree

स्टार फ्रूट का जूस शरीर के लिए लाभकारी होता है. शराब के नशे से निजात दिलाने में ये जूस अहम रोल निभाता है. भूख बढ़ाने के लिए इसका जूस पीना चाहिए. इसका प्रयोग करने से भूख लगने लगती है. स्टार फ्रूट के जूस में आप एक चम्मच चीनी भी डाल सकते हैं. करीब दो-चार दिनों तक इस जूस का उपयोग करें. इससे बहुत फायदा मिलेगा.


Image result for star fruit tree

डैंड्रफ की समस्या को दूर करने में ये फल काफी फायदेमंद होता है. बादाम के तेल में  इसका जूस मिला लें और फिर इस मिक्सचर को आप अपने स्कैल्प पर करीब आधे घंटे के लिए लगाएं. इससे बाल शाइनी हो जाएंगे और डैंड्रफ से छुटकारा मिलेगा.

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, भगवान राम और श्री हनुमान की यह कथा आपने कभी नहीं सुनी होगी..

देखें, भगवान राम और श्री हनुमान की यह कथा आपने कभी नहीं सुनी होगी..

आज एक बार फिर मै कुछ धर्मं एवं अध्यात्म से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

बहुत कम लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमानजी ने रामेश्वरम के ज्योतिर्लिंग को एक बार उखाड़ना चाहा था लेकिन उस समय उनका अभिमान टूट गया था. जी हाँ, इस बारे में तमिल भाषा में महर्षि कम्बन की रामायण ‘इरामावतारम्’ लिखी है जिसमे एक कथा का उल्लेख मिलता है. आप सभी को बता दें कि यह कथा हमें वाल्मिकी रामायण और तुलसीदासकृत रामचरित मानस में नहीं मिलती है और वाल्मिकी रामायण के इतर भी रामायण काल की कई घटनाओं का जिक्र हमें इरामावतारम्, अद्भुत रामायण और आनंद रामायण में मिलता है. इसी में ऐसी एक कथा है रामेश्वरम में शिवलिंग स्थापना की जिसका जिक्र स्कन्दपुराण में भी है वही आज हम आपको बताने जा रहे हैं.
आइए जानते हैं वह पौराणिक कथा.

पौराणिक कथा - इस कथा अनुसार जब भगवान श्रीराम लंका पर विजय प्राप्त कर लौट रहे थे तो उन्होंने गंधमादन पर्वत पर विश्राम किया वहां पर ऋषि मुनियों ने श्री राम को बताया कि उन पर ब्रह्महत्या का दोष है जो शिवलिंग की पूजा करने से ही दूर हो सकता है। इसके लिए भगवान श्रीराम ने हनुमान से शिवलिंग लेकर आने को कहा। हनुमान तुरंत कैलाश पर पहुंचें लेकिन वहां उन्हें भगवान शिव नजर नहीं आए अब हनुमान भगवान शिव के लिए तप करने लगे उधर मुहूर्त का समय बीता जा रहा था। अंतत: भगवान शिवशंकर ने हनुमान की पुकार को सुना और हनुमान ने भगवान शिव से आशीर्वाद सहित एक अद्भुत शिवलिंग प्राप्त किया लेकिन तब तक देर हो चुकी मुहूर्त निकल जाने के भय से माता सीता ने बालु से ही विधिवत रूप से शिवलिंग का निर्माण कर श्री राम को सौंप दिया जिसे उन्होंने मुहूर्त के समय स्थापित किया।

जब हनुमान वहां पहुंचे तो देखा कि शिवलिंग तो पहले ही स्थापित हो चुका है इससे उन्हें बहुत बुरा लगा। तब उन्होंने श्रीराम से कहा कि ‘हे प्रभु! आपके आदेश पर मैं इतना श्रम कर ये शिवलिंग लाया हूं और आपने किसी और शिवलिंग की स्थापना कर ली। ये शिवलिंग भी तो केवल बालू का बना है इसी कारण ये अधिक समय तक नहीं टिक पाएगा जबकि मैं पाषाण से बना शिवलिंग लेकर आया हूं।’ श्रीराम हनुमान की भावनाओं को समझ रहे थे उन्होंने हनुमान को समझाया भी लेकिन वे संतुष्ट नहीं हुए तब श्रीराम ने कहा, ‘हे हनुमान! इसमें दुखी होने की कोई बात नहीं है किन्तु यदि तुम्हारी इच्छा हो तो इस शिवलिंग को हटा कर तुम अपने शिवलिंग की स्थापना कर दो। यदि तुम ऐसा कर सके तो हम तुम्हारे ही शिवलिंग की पूजा करेंगे।’ यह सुनकर हनुमानजी ने सोचा कि उनके एक प्रहार से तो पर्वत भी टूट कर गिर जाते हैं फिर ये रेत से बना शिवलिंग तो यूंही हट जाएगा।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इसी अहंकार की भावना से हनुमान उस शिवलिंग को हटाने का प्रयास करने लगे किन्तु आश्चर्य कि लाख प्रयासों के बाद भी हनुमान ऐसा न कर सके और अंतत: मूर्छित होकर गंधमादन पर्वत पर जा गिरे होश में आने पर उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ तो श्रीराम ने हनुमान द्वारा लाए शिवलिंग को भी नजदीक ही स्थापित किया और उसका नाम हनुमदीश्वर रखा। शिवलिंग स्थापित करने के बाद श्रीराम ने कहा, ‘मेरे द्वारा स्थापित किए गए ज्योतिर्लिंग की पूजा करने से पहले तुम्हारे द्वारा स्थापित किए गए शिवलिंग की पूजा करना आवश्यक होगा। जो ऐसा नहीं करेगा उसे महादेव के दर्शन का फल प्राप्त नहीं होगा।’ उसी समय से काले पाषाण से निर्मित हनुमदीश्वर महादेव का सबसे पहले दर्शन किया जाता है और उसके बाद रामेश्वरम का दर्शन करते हैं।उसी समय से काले पाषाण से निर्मित हनुमदीश्वर महादेव का सबसे पहले दर्शन किया जाता है और उसके बाद रामेश्वरम का दर्शन करते हैं।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.