Thursday, 7 February 2019

हार के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कही ये बड़ी बात

हार के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली (6 फरवरी): 22 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों के सामने 139 रनों पर घुटने टेक दिए।यह भारत की टी-2 में रनों के लिहाज से अभी तक की सबसे बड़ी हार है। इसी के साथ न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1- की बढ़त ले ली है। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 2 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 219 रनों का विशाल स्कोर बनाया था। भारतीय टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 19.2 ओवरों में 139 रनों पर ढेर हो गई। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही।

कप्तान रोहित शर्मा पारी की 14वीं गेंद पर ही पवेलियन लौट गए। वे पांच गेंद खेलकर सिर्फ एक रन ही बना पाए। इसके बाद  शिखर धवन 29 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद फिर धोनी ने कुछ हद तक कोशिश की मगर फिर भी को 39 बनाकर आउट हो गए। उन्होंने  31 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके और 1 छक्का लगाया। 



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इस हार के बाद भारतीय टीम की कप्तानी कर रहे हिटमैन रोहित शर्मा काफी निराश नजर आए और उन्होंने क्या कुछ कहा, आइए जानते हैं। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने बुधवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद कहा कि आठ विशेषज्ञ बल्लेबाजों वाले लाइन-अप को न्यूजीलैंड द्वारा दिये गये 22 रन के लक्ष्य का पीछा करना चाहिए था, भले ही टी2 मैच के लिये यह कितना ही बड़ा लक्ष्य लगता हो। रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘यह मुश्किल मैच था। हम सभी तीन विभागों में पिछड़ गये। हमने अच्छी शुरूआत नहीं की और हम जानते थे कि 2 रन के लक्ष्य का पीछा करना आसान नहीं होगा।’ उन्होंने कहा, ‘हमने बीते समय में इतने बड़े लक्ष्यों का पीछा किया है इसलिये हम आठ बल्लेबाजों के साथ खेले। लेकिन हम छोटी भागीदारी भी नहीं कर सके, इससे मुश्किल हुई। न्यूजीलैंड हालांकि अच्छा खेला, उन्होंने भागीदारियां बनायीं। हमें आकलैंड जाकर परिस्थितियों को देखना होगा।’

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, T-20 क्रिकेट से संन्यास ले सकती है ये दिग्गज़ भारतीय खिलाड़ी..

देखें, T-20 क्रिकेट से संन्यास ले सकती है ये दिग्गज़ भारतीय खिलाड़ी..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की वरिष्ठ खिलाड़ी और वनडे टीम की कप्तान मिताली राज इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली घरेलू वनडे सीरीज के बाद टी-2 प्रारूप से संन्यास ले सकती हैं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ बुधवार से शुरू होने वाली टी-2 सीरीज में अभी भी तय नहीं है कि वह अंतिम-11 का भाग होंगी या नहीं। अगर वह अंतिम-11 का भाग होती भी हैं तो यह साफ है कि वह इंग्लैंड के खिलाफ चार मार्च से असम के बरसापारा में होने वाली तीन मैचों की टी-2 सीरीज में भाग नहीं लेंगी।

बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मिताली जानती हैं कि हरमनप्रीत कौर 22 टी-2 विश्व कप के लिए टीम तैयार करना चाहती हैं और वह इस टूर्नामेंट में भाग नहीं लेंगी, लेकिन उनके स्तर के खिलाड़ी को एक शानदार विदाई की जरूरत है तो ऐसे में वह इंग्लैंड के खिलाफ हो सकती है।
यह सुनने में आया है कि मिताली इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज नहीं खेलेंगी और इस बारे में टीम के वरिष्ठ खिलाड़ियों को भी जानकारी है। यह भी माना जा रहा है कि क्रिकेट संस्थान उन्हें उनके स्तर पर संन्यास लेने की इजाजत देना चाहता है।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

अधिकारी ने कहा कि यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि वह इंग्लैंड के खिलाफ पूरी सीरीज खेलेंगी या फिर आशीष नेहरा की तरह पहला टी-2 खेलकर संन्यास ले लेंगी। मिताली ने 85 टी-2 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 2283 रन बनाए हैं, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 97 रहा है। इस दौरान उन्होंने 17 अर्धशतक लगाए हैं।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

10 रन पर ढेर हो गई पूरी टीम, 4 रन बल्लेबाजों ने बनाए तो 6 रन मिले वाइड से

10 रन पर ढेर हो गई पूरी टीम, 4 रन बल्लेबाजों ने बनाए तो 6 रन मिले वाइड से

नई दिल्ली (6 फरवरी): इस खबर को पढ़ने से पहले आप सोच रहे होंगे कि क्या एक टीम 1 रनों पर भी ऑलआउट हो सकती है। जी हां, आप सही सोच रहे हैं। साउथ आस्ट्रेलिया महिला क्रिकेट टीम घरेलू चैम्पियनशिप के एक मुकाबले में केवल 1 रन पर सिमट गई। इन 1 रनों में छह रन तो केवल वाइड के ही थे जबकि चार रन एक खिलाड़ी के बल्ले से निकले। बाकी का योगदान शून्य रहा। रिपोर्ट के अनुसार, यह रिकॉर्ड नेशनल इंडीजिनियस क्रिकेट चैम्पियनशिप (महिला डिवीजन) के एक मुकाबले में बुधवार को देखने को मिला। 

न्यू साउथ वेल्स की टीम ने चैम्पियनशिप के मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करने उतरी साउथ ऑस्ट्रेलिया की टीम को मात्र 1 रन पर ऑलआउट कर दिया।  मैच में एक ही खिलाड़ी थीं, जिनके बल्ले से चार रन निकले और बाकी के छह रन तो वाइड के रूप में आए। साउथ ऑस्ट्रेलिया की सलामी बल्लेबाज फेबी मांसेल ने 33 गेंदों का सामना किया और चार रन बनाए।  न्यू साउथ वेल्स की गेंदबाज रोक्साने वान वीन ने दो ओवर की गेंदबाजी में एक मेडन रखा और केवल एक ही रन दिए। उन्होंने अपने इस स्पेल में पांच विकेट चटकाए। उनके अलावा नोआमी वुडस दो गेंदों पर दो विकेट हासिल किए। 



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

न्यू साउथ वेल्स टीम भी 11 रनों के लक्ष्य आगे लड़खड़ाने लगी लेकिन उसने 2.5 ओवर में दो विकेट खोकर यह लक्ष्य हासिल कर लिया। साउथ ऑस्ट्रेलिया को अपने पहले मैच में भी हार का सामना करना पड़ा था। वहीं न्यू साउथ वेल्स का यह पहला मुकाबला था। 

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को वेलिंगटन में 35 रन से हराया, सीरीज 4-1 से जीती

टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को वेलिंगटन में 35 रन से हराया, सीरीज 4-1 से जीती

भारत ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर रविवार को यहां वेस्टपैक स्टेडियम में खेले गए सीरीज के 5वें और आखिरी वनडे मैच में न्यू जीलैंड को 35 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ ही भारत ने 4-1 से सीरीज अपने नाम कर ली। यह चौथी बार है जब न्यू जीलैंड को अपने घर में द्विपक्षीय सीरीज गंवानी पड़ी है। 

नई दिल्ली: टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को वेलिंगटन वनडे में 35 रन से हराया. इस जीत के साथ भारत ने 4-1 से सीरीज अपने नाम की. पांचवें और आखिरी वनडे में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 252 रन बनाए. इसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 217 रन पर ऑलआउट हो गई. भारत के लिए शानदार बैटिंग करते हुए अंबाती रायडू ने 9 रन बनाए. उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया. जबकि मोहम्मद शमी को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया. शमी ने सीरीज में काफी अच्छी गेंदबाजी की. अहम बात यह भी है कि यह पहली बार है जब भारत ने न्यूजीलैंड ने 4-1 से वनडे सीरीज पर कब्जा किया.

वेलिंगटन में भारत के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड टीम 44.1 ओवर में 217 रन बनाकर ऑलआउट हो गई. ओपनर कॉलिन मुनरो 24 रन और हैनरी निकोलस 8 रन बनाकर आउट हुए. कप्तान केन विलियमसन ने 39 रन की पारी खेली. हालांकि वो केदार जाधव की गेंद पर विकेट गंवा बैठे. विकेटकीपर बल्लेबाज टॉम लाथम 37 रन और जेम्स नीशाम 44 रन बनाकर पवेलियन लौटे. मिचेल सेंटेनर 22 रन बनाए. न्यूजीलैंड का कोई भी खिलाड़ी इस पारी में अर्धशतक नहीं लगा सका.

भारत की ओर से मोहम्मद शमी, युजवेन्द्र चहल और हार्दिक पांड्या समेत सभी ने अच्छी गेंदबाजी की. शमी ने टीम इंडिया को शुरुआत दो विकेट दिलाए. उन्होंने 8 ओवर में 35 रन देकर ओपनर खिलाड़ियों को आउट किया. जबकि चहल ने 1 ओवर में 41 रन देकर 3 विकेट झटके. पांड्या ने 8 ओवर में 5 रन देकर 2 विकेट अपने नाम किए. वहीं भुवनेश्वर कुमार ने 7.1 ओवर में 38 रन देकर एक सफलता हासिल की. केदार जाधव को भी एक विकेट मिला.

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला किया. उसने 49.5 ओवर में ऑलआउट होने तक 252 रन बनाए. मिडिल ऑर्डर के बैट्समैन अंबाती रायडू यहां शतक लगाने से चूक गए. उन्होंने 113 गेंदों का सामना करते हुए 4 छक्कों और 8 चौकों की मदद से 9 रन बनाए. उन्हें मैट हैनरी ने आउट किया. जबकि पांड्या ने ऑलराउंड प्रदर्शन किया. उन्होंने 22 गेंदों का सामना करते हुए 5 छक्कों और 2 चौकों की मदद से 45 रन बनाए. विजय शंकर रन आउट हुए. उन्होंने भी 45 रन का अहम योगदान दिया.

ओनपर रोहित शर्मा और शिखर धवन कुछ खास नहीं कर पाए. इस तरह महेन्द्र सिंह दोनी भी महज एक रन बनाकर पवेलियन लौटे. युवा खिलाड़ी शुभमन गिल ने 7 रन का योगदान दिया. जबकि केदार जाधव ने 34 रन की अहम पारी खेली. इस दौरान न्यूजीलैंड के लिए मैट हैनरी ने 4 विकेट झटके. ट्रेंट बोल्ट ने भी 3 विकेट अपने नाम किए.

शतक से चूके रायुडू, चहल चमके
चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे रायुडू ने वनडे करियर का 1वां अर्धशतक पूरा किया। हालांकि वह शतक से चूक गए और 9 के निजी स्कोर पर कैच आउट हो गए। उन्होंने 113 गेंदों पर 8 चौके और 4 छक्के लगाए। युजवेंद्र चहल ने मैच में 41 रन देकर 3 विकेट झटके। हार्दिक पंड्या और मोहम्मद शमी को 2-2 विकेट मिले। भुवनेश्वर कुमार और केदार जाधव ने 1-1 विकेट लिया।

भारत की खराब शुरुआत
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और उसके 4 विकेट मात्र 18 रन पर गिर गए। कप्तानी संभाल रहे रोहित शर्मा (2) को पांचवें ओवर की पहली गेंद पर मैट हेनरी ने बोल्ड किया। इसके बाद शिखर धवन (6) अगले ही ओवर में ट्रेंट बोल्ट का शिकार बने। हेनरी ने फिर शुभमन गिल (7) को मिशेल सैंटनर के हाथों कैच कराया। एमएस धोनी से काफी उम्मीदें थीं लेकिन उन्हें बोल्ट ने पारी के 1वें ओवर की तीसरी गेंद पर बोल्ड कर पविलियन की राह दिखा दी। वह केवल 1 रन ही बना सके।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

हार्दिक पंड्या का जलवा
ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या एक बार फिर अपनी फॉर्म में दिखे और उन्होंने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए 45 रन का योगदान दिया। पंड्या ने 22 गेंदों की अपनी पारी में 2 चौके और 5 छक्के जड़े। वह टीम के 248 के स्कोर पर 49वें ओवर की अंतिम गेंद पर आठवें विकेट के रूप में पविलियन लौटे। भुवनेश्वर कुमार (6) और मोहम्मद शमी (1) पारी के 49वें ओवर में आउट हुए।

धोनी और शमी की हुई वापसी
भारतीय टीम में इस मैच के लिए 3 बदलाव किए गए। मोहम्मद शमी, महेंद्र सिंह धोनी और विजय शंकर की वापसी हुई जबकि खलील अहमद, कुलदीप यादव और दिनेश कार्तिक को आराम दिया गया। वहीं, चोटिल मार्टिन गप्टिल की जगह कोलिन मुनरो को न्यू जीलैंड टीम में जगह मिली।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

ICC ने कहा- महेंद्र सिंह धोनी से सावधान, धोनी विकेट के पीछे हों तो क्रीज ना छोड़ें

ICC ने कहा- महेंद्र सिंह धोनी से सावधान, धोनी विकेट के पीछे हों तो क्रीज ना छोड़ें

महेंद्र सिंह धोनी जितना अपने अनुभव के लिए मशहूर हैं उतना ही विकेट के पीछे अपनी तेजी के लिए भी चर्चित. रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने एक बार फिर अपनी तेजी से सबको अपना दीवाना बना दिया. महेंद्र सिंह धोनी की तेजी को देखकर आईसीसी ने भी ट्वीट कर लिखा,’जब महेंद्र सिंह धोनी क्रीज के पीछे हों, तो भूलकर भी अपनी क्रीज नहीं छोड़ते.’

नई दिल्ली: भारतीय विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी की विकेट का पीछे रफ्तार हर किसी ने देखी है। बल्लेबाज को पलक झपकते ही स्टंप करने में धोनी माहिर हैं। दरअसल रविवार को न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेले गए पांचवे वनडे में कुछ ऐसा हुआ की आईसीसी को महेंद्र सिंह धोनी को लेकर चेतावनी जारी करनी पड़ी। ऐसा तब हुआ जब धोनी ने अपनी चालाकी से बल्लेबाज के अलावा मैदान पर सबको दंग कर दिया। ये एक ऐसा रन आउट था कि आमतौर पर शांत रहने वाले धोनी भी खुद को रोक नहीं सके और बच्चों की तरह खुलकर जश्न मनाते दिखे। बहुत कम ही उनको इस रूप में देखा जाता रहा है। आइए जानते हैं कि इस रन आउट में ऐसा क्या हुआ और आपको इसका वीडियो भी दिखाते हैं। 

कीवी टीम लक्ष्य का पीछा कर रही थी और न्यूजीलैंड के बल्लेबाज जिमी नीशम 44 रन बनाकर मजबूती से पिच पर टिके हुए थे। तभी पारी के 37वें ओवर में भारतीय स्पिनर केदार जाधव ने एक गेंद फेंकी जिस पर गेंद बल्लेबाज जिमी नीशम के पैड से टकराकर वहीं स्लिप दिशा में जाती नजर आई। सभी को लगा ये LBW है और धोनी सहित सभी भारतीय खिलाड़ी अंपायर की ओर देखकर अपील कर रहे थे..लेकिन किसी ने ये गौर नहीं किया कि इसी शॉट को खेलने के चक्कर में जिमी नीशम क्रीज के बाहर आ चुके थे। धोनी अपील कर रहे थे तो नीशम का ध्यान भी अंपायर पर था,

कीवी टीम की ओर से इस मैच में सबसे ज्यादा 44 रन बनाने वाले नीशम अपने अर्धशतक की ओर बढ़ रहे थे। वह मैच कीवी टीम को वापस लाने का प्रयास कर रहे थे। इस बीच केदार जाधव बोलिंग पर थे और कीवी पारी का 37 ओवर प्रगति पर था। जाधव के ओवर की दूसरी बॉल पर नीशम स्वीप खेलने का प्रयास कर रहे थे। गेंद की लाइन को वह पूरी तरह मिस कर गए और गेंद सीधे उनके पैड से जा टकराई। मामला करीबी था, तो केदार जाधव के साथ-साथ धोनी भी LBW आउट की अपील मांगने लगे। धोनी गेंद को अपने दस्तानों में क्लेक्ट नहीं कर पाए थे। इस बीच नीशम को लगा कि धोनी अपील के चलते बॉल से नजरें हटा चुके हैं, नीशम कन चुराने के लिए जैसे ही क्रिज से बाहर निकले धोनी ने फुर्ती से गेंद पर झपटा मारा और गिल्लियां बिखेर दिए, अंपायर ने थर्ड अंपायर को रेफर किया, टीवी रिप्ले देखते ही नीशम पैविलियन की तरफ चल पड़े।

धोनी की फुर्ती का कायल आईसीसी भी हो गया और ट्वीट किया कि “जब धोनी क्रिज के पीछे हो तो क्रिज नहीं छोड़ते”। भारत ने पांच मैचों की सीरीज को 4-1 से जीत लिया है। टीम इंडिया ने मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 252 रनों का स्कोर खड़ा किया था जिस दौरान अंबाती रायुडू (9), विजय शंकर (45) और हार्दिक पांड्या (45) ने अहम भूमिका निभाई। इसके बाद जवाब देने आई न्यूजीलैंड की टीम 44.1 ओवर में 217 रन पर ही सिमट गई। इसके साथ ही भारतीय टीम ने ये मुकाबला 35 रनों से जीत लिया और साथ ही वनडे सीरीज भी 4-1 से अपने नाम कर ली। अंबाती रायुडू ‘मैन ऑफ द मैच’ बने। टीम इंडिया ने इससे पहले वनडे सीरीज के शुरुआती तीनों मुकाबले जीते थे जबकि न्यूजीलैंड ने हैमिल्टन में खेला गया चौथा वनडे जीता था। अब तीन मैचों की टी2 सीरीज की बारी है जो कि 6 फरवरी को शुरू होगी।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

पहले टी-20 में हार के साथ टीम इंडिया ने बनाया शर्मनाक रिकॉर्ड

पहले टी-20 में हार के साथ टीम इंडिया ने बनाया शर्मनाक रिकॉर्ड

नई दिल्ली (6 फरवरी): 22 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ों के सामने 139 रनों पर घुटने टेक दिए।यह भारत की टी-2 में रनों के लिहाज से अभी तक की सबसे बड़ी हार है। इसी के साथ न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1- की बढ़त ले ली है। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 2 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 219 रनों का विशाल स्कोर बनाया था। भारतीय टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 19.2 ओवरों में 139 रनों पर ढेर हो गई। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही।

कप्तान रोहित शर्मा पारी की 14वीं गेंद पर ही पवेलियन लौट गए। वे पांच गेंद खेलकर सिर्फ एक रन ही बना पाए। इसके बाद  शिखर धवन 29 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद फिर धोनी ने कुछ हद तक कोशिश की मगर फिर भी को 39 बनाकर आउट हो गए। उन्होंने  31 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके और 1 छक्का लगाया। 



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंग्टन में खेले गए पहले टी2 मैच में भारतीय क्रिकेट टीम को टी2 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी सबसे बड़ी हार (रनों के लिहाज से) का सामना करना पड़ा है। पहले टी2 मैच में मेजबान न्यूजीलैंड ने भारतीय टीम को 8 रनों से करारी शिकस्त देते हुए सीरीज में 1- की बढ़त हासिल कर ली। ये टी2 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में रनों से लिहाज से भारतीय टीम की अब तक की सबसे बड़ी हार है। इससे पहले टीम इंडिया की क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में सबसे बड़ी हार आज से 9 साल पहले 21 में ब्रिजटाउन में देखने को मिली थी जब ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारत को 49 रनों से करारी शिकस्त दी थी।

- ये हैं टी2 क्रिकेट में भारत की 4 सबसे बड़ी हार

  1. भारत बनाम न्यूजीलैंड (वेलिंग्टन, 219) - 8 रन से हार
  2. भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (ब्रिजटाउन, 21) - 49 रन से हार
  3. भारत बनाम न्यूजीलैंड (नागपुर, 216) - 46 रन से हार
  4. भारत बनाम न्यूजीलैंड (राजकोट, 217) - 4 रन से हार

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, मैच से पहले महेंद्र सिंह धौनी की चोट को लेकर एक ताज़ा अपडेट आया है..

देखें, मैच से पहले महेंद्र सिंह धौनी की चोट को लेकर एक ताज़ा अपडेट आया है..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले जाने वाले चौथे वनडे मुकाबला हैमिल्टन में 31 जनवरी को खेला जाएगा। इस मैच से पहले महेंद्र सिंह धौनी की चोट को लेकर एक ताज़ा अपडेट आया है। धौनी मौजूदा सीरीज़ के तीसरे मुकाबले में नहीं खेल सके थे। उन्हें हैमस्ट्रिंग में तकलीफ थी। धौनी के न खेलने के चलते दिनेश कार्तिक ने उस मुकाबले में विकेटकीपिंग की थी। लेकिन चौथे वनडे मैच से पहले उन्हें बल्लेबाज़ी का अभ्यास करते हुए देखा गया।

धौनी को चोट पर आया ये अपडेट

महेंद्र सिंद धौनी अपनी इस चोट से उबर गए हैं और अब उनकी हैमस्ट्रिंग की तकलीफ भी कम हो गई है। तभी तो माही हैमिल्टन में होने वाले चौथे वनडे मैच से पहले नेट्स में अभ्यास करते दिखाई दिए।
भारतीय फैंस के लिए ये बेहद अच्छी खबर है। धौनी को अभ्यास करते देख अब इस बात की संभावना काफी बढ़ गई है कि वो चौथे वनडे मैच में मैदान पर विकेटकीपिंग करते दिखाई देंगे।

शानदार फॉर्म में हैं माही

धौनी इन दिनों शानदार फॉर्म में हैं। उन्होंने 219 की शुरुआत धमाकेदार अंदाज़ में की है। पहले उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार तीन अर्धशतक जड़े। अब न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच में उन्होंने नाबाद 48 रन की पारी खेली थी। इस सीरीज़ के पहले दोनों मैचों में धौनी ने अपनी बेहतरीन विकेटकीपिंग का नज़ारा भी दिखाया था। दोनों मैचों में धौनी ने चीते सी फु्र्ती दिखाते हुए न्यूज़लैंड के एक-एक बल्लेबाज़ को पवेलियन की राह दिखाई थी।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

चौथे वनडे मैच में टीम इंडिया में होंगे बदलाव

चौथे वनडे मैच में विराट कोहली नहीं होंगे तो ऐसे में टीम इंडिया की कप्तानी रोहित शर्मा करेंगे। भारत सीरीज़ पहले ही जीत चुका है। इस मैच में शुभमन गिल का डेब्यू हो सकता है। वहीं मोहम्मद शमी को इस मैच में आराम दिया जा सकते है और उनकी जगह पर मोहम्मद सिराज़ या फिर खलील अहमद को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जा सकता है।

वैसे आपको बता दें कि टीम इंडिया पहले ही ये वनडे सीरीज़ अपने नाम कर चुकी है। भारत ने पहले तीनों मैच जीतकर सीरीज़ में 3- की बढ़त बनाई हुई है, तो ऐसे में चौथे मैच में काफी प्रयोग देखने को मिल सकते हैं। भारत ने 1 साल के बाद न्यूज़ीलैंड की धरती पर वनडे सीरीज जीती है। इससे पहले टीम इंडिया ने धौनी की कप्तानी में 29 में वनडे सीरीज़ जीती थी।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

भारत ने वनडे सीरीज 4-1 से अपने नाम की, भारत ने पांचवां वनडे 35 रन से जीता

भारत ने वनडे सीरीज 4-1 से अपने नाम की, भारत ने पांचवां वनडे 35 रन से जीता

India won the ODI series 4-1 their name, India won the fifth ODI 35 runs

भारत ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पांच मैचों की एकदिवसीय सीरीज़ को 4-1 से अपने नाम कर लिया। भारत ने पांचवें और आख़िरी वनडे मु़क़ाबले में न्यूज़ीलैंड की टीम को 35 रन से हरा दिया।

भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले जा रहे सीरीज़ के आखरी मुकाबले में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया। भारत ने न्यूज़ीलैंड के सामने जीत के लिए 253 रन का लक्ष्य रखा था लेकिन कीवी टीम 44.1 ओवर में 217 रन पर सिमट गई।भारत की ओर से सबसे ज्यादा 3 विकेट युजवेंद्र चहल ने लिए।

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी करते हुए 253 रन का स्कोर किया। भारत को पहला झटका कप्तान रोहित शर्मा के रूप में लगा जिन्हें 2 रन पर मैट हैनरी ने बोल्ड कर दिया। शिखर धवन को ट्रेंट बोल्ट ने हैनरी के हाथों कैच कराकर उनकी पारी का अंत किया। शुभमन गिल के पास खुद को साबित करने का एक अच्छा मौका था लेकिन उन्हें 7 रन पर मैट हैनरी ने सैंटनर के हाथों कैच कराया।

महेंद्र सिंह धोनी केवल एक रन पर बोल्ड हो गए। विजय शंकर औऱ राडयु के बीच अच्छी साझेदारी बन रही थी लेकिन विजय 45 रन पर रनआउट हो गए। रायडु दूसरे छोर पर डटे रहे और भारतीय पारी को आगे बढाते रहे, लेकिन वो अपने शतक से चूक गए और 9 रन पर हैनरी की गेंद पर मुनरो द्वारा लपके गए। केदार जाधव ने 34 रन का योगदान दिया। आखिर में हार्दिक पांड्या ने तेज़ी से 45 रन जोडे और भारतीय टीम एक गेंद शेष रहते 252 रन पर ऑलआउट हुई।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट में विजय,अर्जुन एवं सुमित दूसरे राउन्ड में

एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट में विजय,अर्जुन एवं सुमित दूसरे राउन्ड में

चेन्नई 5 फरवरी।चेन्नई ओपन एटीपी चैलेंजर टूर्नामेंट में तीन भारतीय खिलाड़ी विजय सुंदर प्रशांत, अर्जुन खरे और सुमित नागल पुरुष सिंगल्स मुख्य ड्रॉ के दूसरे राउंड में पहुंच गये हैं।

प्रतियोगिता में कल विजय सुंदर प्रशांत ने स्पेन के कार्लोस बोलुदा परकिस को हराया।अर्जुन खरे ने रूस के इवान नेदेल्को और सुमित नागल ने स्पेन के डेविड पेरेज सांज को मात दी।अगले राउंड में सुमित नागल का मुकाबला कोरिया के दकी ली से और प्रशांत का अपने ही देश के साकेत माइनेनी से होगा।

भारत के प्रजनेशगुणेश्वरन और जर्मनी के डैनियल ऑल्टमियर के बीच कल होने वाले मैच पर सबकी निगाहें लगी हैं। अगर प्रजनेशकल यह मुकाबला जीत जाते हैं तो वे अपने करियर में पहली बार शीर्ष एक सौ खिलाड़ियों में शामिल हो जाएंगे।

 



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

दिनेश कार्तिक ने पकड़ा टी-20 का सबसे शानदार कैच, वीडियो वायरल

दिनेश कार्तिक ने पकड़ा टी-20 का सबसे शानदार कैच, वीडियो वायरल

नई दिल्ली (6 फरवरी): वेस्टपैक स्टेडियम में खेले गए पहले टी-2 मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को 8 रनों से शिकस्त दी। रनों के लिहाज से टी-2 क्रिकेट मैच में भारत के लिए यह अब तक की सबसे सबसे बड़ी हार है। दूसरी ओर, इस मैच में न्यू जीलैंड ने टी-2 इंटरनेशनल में अपनी छठी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। इस मैच में न्यू जीलैंड ने पहले बल्लेबाजी का फैसला लेते हुए निर्धारित 2 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 219 रनों का बड़ा स्कोर बनाया। भारतीय टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 19.2 ओवरों में 139 रनों पर सिमट गई।  

न्यूजीलैंड की पारी के 15वें ओवर की आखिरी गेंद में दिनेश कार्तिक ने बाउंड्री पर शानदार कैच लपककर डेरल मिचेल को पवेलियन वापस लौटने के लिए मजबूर कर दिया। कैच इतना शानदार और करीबी था कि टीवी अंपायर को भी अंतिम निर्णय देने में लंबा वक्त लग गया। कार्तिक ने दोनों हाथों से कैच लपका लेकिन उन्हें लगा कि वो गेंद के साथ बाउंड्री के पार चले जाएंगे तो उन्होंने गेंद को वापस मैदान के अंदर उछाल दिया। इसके बाद संतुलन हासिल करने के बाद मैदान के अंदर डाइव लगाकर कैच लपक लिया। मिचेल इसके साथ ही 6 गेंद में 8 रन बनाने के बाद हार्दिक पंड्या का शिकार बने। इस तरह 164 के स्कोर पर कीवी टीम ने तीसरा विकेट गंवा दिया। 

इससे पहले दिनेश कार्तिक ने 11वें ओवर में  सेफर्ट का एक आसान सा कैच कैच छोड़ दिया था। जो कीवी टीम के सबसे बड़े स्कोरर रहे। हालांकि खलील ने उनकी पारी को लंबी नहीं होने दिया और शतक पूरा करने से पहले 13वें ओवर में वापस पवेलियन भेज दिया। मिचेल का शानदार कैच को लपकने के बाद 18वें ओवर में बाउंड्री लाइन पर रॉस टेलर का एक आसान सा कैच छोड़ दिया।   



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

पहले टी-20 मैच में भारत की बड़ी हार, न्यूजीलैंड ने 80 रनों से हराकर सीरीज में बनाई बढ़त

पहले टी-20 मैच में भारत की बड़ी हार, न्यूजीलैंड ने 80 रनों से हराकर सीरीज में बनाई बढ़त

भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी टी-2 सीरीज के पहले मैच में बुधवार को कीवी गेंदबाजी के सामने भारतीय बल्लेबाजी पस्त नजर आई जिसकी बदौलत भारतीय टीम को 8 रन की बड़ी हार का सामना करना पड़ा. इस जीत के साथ न्यूजीलैंड ने 3 मैचों की टी-2 सीरीज में 1- की बढ़त बना ली है. इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए निर्धारित 2 ओवर में छह विकेट खोकर 219 रन बनाए थे। इसके जवाब में भारत की पूरी टीम 19.2 ओवर में 139 रन पर सिमट गई।

नई दिल्ली: ओपनर टिम सेफर्ट (84) की शानदार पारी की बदौलत न्यूजीलैंड ने बुधवार को पहले टी2 में भारत को 8 रन से हरा दिया। वेलिंग्टन में खेले गए इस मैच में न्यू जीलैंड ने 2 ओवर में 6 विकेट पर 219 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम 19.2 ओवर में 139 रन ही बना सकी। यह टी2 इंटरनैशनल में भारत की रनों के मामले में ओवरऑल सबसे बड़ी हार है। इस जीत के साथ न्यू जीलैंड ने 3 मैचों की सीरीज में 1- की बढ़त बना ली।

ओपनर सेफर्ट ने 43 गेंदों की अपनी पारी में 7 चौके और ताबड़तोड़ 6 छक्के लगाए और टी2 इंटरनैशनल करियर की पहली फिफ्टी जड़ी। उन्होंने पहले विकेट के लिए कोलिन मुनरो (34) के साथ 86 रन जोड़े। मुनरो को क्रुणाल पंड्या ने शिकार बनाया और विजय शंकर ने उन्हें लपका। उन्होंने 2 गेंदों पर 2 चौके और 2 छक्के जड़े। सेफर्ट टीम के दूसरे विकेट के तौर पर 134 के स्कोर पर आउट हुए। 

कप्तान केन विलियमसन ने 22 गेदों पर 3 छक्कों की बदौलत 34 रन का योगदान दिया। वहीं, रोस टेलर ने 14 गेंदों पर 2 छक्कों की मदद से 23 रन बनाए। भारत के लिए हार्दिक पंड्या ने 2 विकेट लिए लेकिन 51 रन लुटाए। सबसे किफायती क्रुणाल रहे जिन्होंने 37 रन देकर 1 विकेट लिया। उनके अलावा भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद और युजवेंद्र चहल को 1-1 विकेट मिला।

ऐसी रही भारतीय पारी
मेहमान टीम के लिए सबसे ज्यादा रन महेंद्र सिंह धोनी (39) ने बनाए। उन्होंने 31 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके और 1 छक्का जड़ा। भारतीय टीम को पहला झटका रोहित शर्मा (1) के रूप में पारी के तीसरे ओवर में लगा। इसके बाद धवन (29) टीम के 51 के स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने 18 गेंदों पर 2 चौके और 3 छक्के लगाए। ऋषभ पंत (4) को सैंटनर ने पारी के 9वें ओवर की दूसरी गेंद पर शिकार बनाया। विजय शंकर (27) को इसी ओवर की चौथी गेंद पर कोलिन डि ग्रैंडहोम ने लपका।

शंकर ने 18 गेंदों की अपनी पारी में 2 चौके और 2 छक्के लगाए। दिनेश कार्तिक भी कुछ खास नहीं कर सके और उन्हें 5 के निजी स्कोर पर सोढ़ी ने साउदी के हाथों कैच कराकर पविलियन भेज दिया। हार्दिक पंड्या (4) भी सोढ़ी का शिकार बने और उन्हें मिशेल ने लपका।

क्रुणाल पंड्या (2) ने धोनी के साथ मिलकर 7वें विकेट के लिए 52 रन की पार्टनरशिप की। क्रुणाल टीम के 129 के स्कोर पर आउट हुए। इसके बाद धोनी टीम के 9वें विकेट के रूप में 136 के स्कोर पर पविलियन लौटे। युजवेंद्र चहल (1) टीम के आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज रहे। न्यू जीलैंड के लिए टिम साउदी ने 17 रन देकर 3 विकेट लिए। लोकी फर्ग्युसन, मिशेल सैंटनर और ईश सोढ़ी ने 2-2 विकेट लिए।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

देखें, न्यूजीलैंड के चयनकर्ताओं ने पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले तीन वनडे में मिली हार के बाद टीम में बड़े बदलाव किए..

देखें, न्यूजीलैंड के चयनकर्ताओं ने पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले तीन वनडे में मिली हार के बाद टीम में बड़े बदलाव किए..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

न्यूजीलैंड के चयनकर्ताओं ने पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले तीन वनडे में मिली हार के बाद टीम में बड़े बदलाव किए हैं। अंतिम दो वनडे के लिए टीम में बदलाव करने के बाद चयनकर्ताओं ने अब टी2 सीरीज के लिए घरेलू सीजन में शानदार प्रदर्शन कर रहे दो खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया है। इन दोनों खिलाड़ियों के नाम डैरिल मिशेल और ब्लेयर टिकनेर हैं।

न्यूजीलैंड के चयनकर्ताओं ने ऑलराउंडर डैरिल मिशेल और तेज गेंदबाज ब्लेयर टिकनेर को अपनी टी2 टीम में शामिल किया है। बता दें कि पांच वनडे मैचों की सीरीज के बाद न्यूजीलैंड को भारत के खिलाफ अपनी धरती पर तीन मैचों की टी2 सीरीज भी खेलनी है।
डैरिल मिशेल पूर्व रग्बी कोच जॉन मिशेल के पुत्र हैं। उन्हें डॉमेस्टिक टी2 टूर्नामेंट और न्यूजीलैंड ए की तरफ से वनडे क्रिकेट में बेहतरीन फॉर्म दिखाने की वजह से टीम में शामिल किया गया है। हालांकि तेज गेंदबाज टिकनेर हैमिल्टन में खेले जाने वाले तीसरे टी2 में टीम से जुड़ेंगे और वह लोकी फर्ग्यूसन की जगह लेंगे।

जिमी नीशम के चोटिल होने के बाद श्रीलंका के खिलाफ टी2 टीम में शामिल किए गए डग ब्रासवेल को एक बार फिर टीम में जगह मिली है। न्यूजीलैंड के चयनकर्ता गाविन लार्सेन ने कहा - मिशेल ने कुछ शानदार प्रदर्शन करके टीम में अपने लिए जगह जीती है। हाल ही में 23 गेंदों पर खेली गई उनकी 61 रन की पारी उनमें से एक है।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

Sunday, 3 February 2019

देखें, ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिल ह्यूज के साथ हुई दुखद घटना के बाद से क्रिकेट में सिर की चोटों को बेहद गंभीरता से लिया..

देखें, ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिल ह्यूज के साथ हुई दुखद घटना के बाद से क्रिकेट में सिर की चोटों को बेहद गंभीरता से लिया..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिल ह्यूज के साथ हुई दुखद घटना के बाद से क्रिकेट में सिर की चोटों को बेहद गंभीरता से लिया जाता है। ऐसा ही एक हादसा फिर से दुनिया को देखने को मिला ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच कैनबरा में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन। श्रीलंका के बल्लेबाज़ दिमुथ करुणारत्ने को पैट कमिंस की एक गेंद हैलमेट के पीछे जा लगी। ये चोट इतनी जबरदस्त थी कि करुणारत्ने गेंद लगते ही मैदान पर गिर पड़े।

ऐसे हुआ ये हादसा

कमिंस श्रीलंका की पहली पारी का 31वां ओवर फेंक रहे थे। इस दौरान उन्होंने 142 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से एक गेंद फेंकी जो सीधे जा कर करुणारत्ने के हेलमेट पर लगी।
गेंद लगने के बाद करुणारत्ने मैदान पर ही गिर पड़े। करुणारत्ने को ये खतरनाक गेंद गर्दन के ऊपर लगी। अंपायरों ने तुर्ंत ही मेडिकल टीम को मैदान पर बुलाया।बाएं हाथ के खिलाड़ी को सभी आवश्यक मदद दी गई। मेडिकल कर्मचारियों ने महसूस किया कि बाउंसर का प्रभाव काफी अधिक है तो 3 वर्षीय करुणारत्ने को स्ट्रेचर पर लेटाकर मैदान से बाहर ले जाया गया।

होश में रहे करुणारत्ने

आपातकालीन कैब के अंदर ले जाए जाने के बाद, बल्लेबाज ने होश नहीं खोए। उन्होंने अपने हाथों को चलाना और बोलना जारी रखा। ऑस्ट्रेलिया टीम के डॉक्टर रिचर्ड शॉ बल्लेबाज़ के साथ मैदान से बाहर चले गए। मैदान पर मौजूद एक एम्बुलेंस ने क्रिकेटर को पास के अस्पताल पहुंचाया, जहाँ डॉक्टरों ने जांच के बाद बताया कि चिंता का कोई कारण नहीं है।

मैदान में हुए हादसों में इन खिलाड़ियों की गई जान



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

रमन लांबा (भारत) : एक क्लब मैच के दौरान रमन लांबा बिना हेलमेट पहने फील्डिंग करने उतरे थे और सिर पर गेंद लगने के कारण चोटिल हो गए थे। 22 फरवरी 1998 उनकी मौत हो गई थी।

जुल्फिकार भट्टी (पाकिस्तान) : 213 में जुल्फिकार को बल्लेबाजी करते हुए गेंद सीने पर लगी। उन्हें अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया।

रिचर्ड ब्यूमेंट (इंग्लैंड) : इस क्रिकेटर की 212 में अपने क्लब के लिए पांच विकेट लेने के बाद पिच पर कुछ ही क्षणों में मौत हो गई थी। गेंदबाजी करते समय दिल का दौरा पड़ा। अस्पताल में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

फिल ह्यूज (ऑस्ट्रेलिया) : सिडनी में 25 नवंबर 214 को दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के साथ घरेलू मैच के दौरान न्यू साउथ वेल्स के गेंदबाज सीन एबॉट की गेंद ह्यूज की गर्दन में लग गई थी। वह मैदान पर ही गिर पड़े थे। अस्पताल में ब्रेन हैमरेज से उनकी मौत हो गई थी।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

पांचवें वनडे में हार्दिक का धमाल, जड़े 5 धमाकेदार छक्के

पांचवें वनडे में हार्दिक का धमाल, जड़े 5 धमाकेदार छक्के

नई दिल्ली (3 फरवरी): भारतीय टीम ने वेस्टपैक स्टेडियम में खेले जा रहे पांच मैचों की वनडे सीरीज के आखिरी मैच में न्यूजीलैंड को 253 रनों का लक्ष्य दिया। भारत ने अपनी पारी के 49.5 ओवर में 252 रन बनाए। चौथे वनडे की तरह इस मैच में भी भारत की शुरुआत खराब रही, लेकिन अंबति रायडू (9) ने पांचवें विकेट के लिए विजय शंकर (45) के साथ 98 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी करते हुए मेहमान टीम को सम्माजनक स्कोर तक पहुंचाया। न्यूजीलैंड के लिए मैट हेनरी ने चार और ट्रेंट बोल्ट ने तीन विकेट लिए। जेम्स नीशाम को एक विकेट मिला।

कॉफी विद करण विवाद के बाद वापसी करने वाले हार्दिक पांड्या न्यूजीलैंड दौरे पर अलग रंग में दिखाई दे रहे है। सीरीज के रविवार को खेले गए पांचवें वनडे में उन्होंने धमाकेदार अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 5 गगनचुंबी छक्के जड़ दिए। पांड्या ने 22 गेंद पर 45 रन की पारी खेली और भारतीय टीम को सम्मानजक स्कोर तक पहुंचाने में सफल हुए। जब पांड्या बल्लेबाजी करने उतरे तब 43.2 ओवर में टीम इंडिया ने 6 विकेट 19 रन बनाए थे। इसके बाद पंड्या ने केदार जाधव के साथ धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए टीम को 25 रन के करीब पहुंचा दिया। 

पांड्या आज शानदार फॉर्म में दिखे। उन्होंने मैदान पर आते ही विरोधी गेंदबाजों पर हमला बोल दिया। उन्होंने 47वें ओवर में लेग स्पिनर टॉड एस्टल की गेंदों पर हमला बोल दिया। इस ओवर की दूसरी, तीसरे और चौथी गेंद को सीधे मैदान के बाहर पहुंचाकर छक्कों की हैट्रिक जड़ दी। पांड्या ने पारी इस ओवर में पहला छक्का मिड विकेट बाउंड्री के ऊपर से जड़ा। इसके बाद दूसरा एक्स्ट्रा कवर और तीसरा एक बार फिर मिड विकेट की दिशा में जड़ा। ऐसे में भारतीय टीम के स्कोर संस्थान ने रफ्तार पकड़ ली।



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

हार्दिक ने इन तीन छक्कों के अलावा एक छक्का तेज रफ्तार कीवी गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर 48वें ओवर में जड़ा जबकि 49वें ओवर में जिमी नीशम की गेंद पर अपना पांचवां छक्का जड़ा। इसी ओवर की अंतिम गेंद पर एक फुल टॉस को वो अच्छे से नहीं खेल पाए और ट्रेंट बोल्ट के एक शानदार कैच का शिकार होकर उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा। ये रायुडू और पांड्या की पारी ही थी जिसके दम पर टीम इंडिया एक खराब शुरुआत के बावजूद अंत में न्यूजीलैंड को 253 रनों का लक्ष्य दे सकी। हालांकि इस खिलाड़ी ने एक बार फिर दिखा दिया कि भारतीय वनडे टीम में उनकी कितनी जरूरत है। 

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख - यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

Wednesday, 30 January 2019

देखें, ऑस्ट्रेलिया के कोच लैंगर ने धोनी के बारे में कहीं ऐसी बात, आपको होगा आश्चर्य..

देखें, ऑस्ट्रेलिया के कोच लैंगर ने धोनी के बारे में कहीं ऐसी बात, आपको होगा आश्चर्य..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने अपनी टीम के खिलाड़ियों को महेंद्र सिंह धोनी से प्रेरणा लेने की सीख दी है. उन्होंने कहा है की उम्र के इस पड़ाव में भी आकर महेंद्र सिंह धोनी जिस प्रकार की बैटिंग करते हैं और टीम को जीत की तरफ ले जाते हैं. वह वाकई एक प्रेरणास्रोत हैं. नए जेनरेशन के खिलाड़ियों को उनसे सीख लेनी चाहिए.

जस्टिन लैंगर ने महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ की है. (फोटो : गूगल)

ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने वनडे सीरीज में महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि धोनी एक सुपरस्टार और इस खेल के ऑल टाइम ग्रेट खिलाड़ी हैं। 37 साल की उम्र में उनकी फिटनेस से हमारे युवा खिलाड़ियों को सीख लेनी चाहिए।”धोनी तीसरे वनडे में 114 गेंद की पारी में 87 रन बनाकर नॉट आउट रहे।
तीन मैच की सीरीज में उन्होंने 3 अर्धशतक की मदद से कुल 193 रन बनाए। भारत ने सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया। लैंगर ने कहा कि धोनी इस उम्र में जिस तरह विकेटों के बीच में दौड़ लगाते हैं वह तारीफ के काबिल है। लगातार तीन दिन 4 डिग्री तापमान में इस तरह दौड़ना बेहतरीन है। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को उनके जैसा बनने की कोशिश करनी चाहिए।

कोच लैंगर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को धोनी से सीख लेने की कही है बात. (फोटो : गूगल)



घर बैठे फ्री पैसे कमाने के लिए क्लिक करे यहाँ जाये

ऑस्ट्रेलियाई कोच ने कहा कि धोनी, विराट कोहली और टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा। ये सभी महान खिलाड़ी हैं। उन्होंने हमें आदर्श खिलाड़ी दिए। धोनी का रिकॉर्ड एक कप्तान, बल्लेबाज और विकेटकीपर के तौर उनकी काबिलियत को साबित करता है। ऐसे खिलाड़ियों से हारना दुखद है, लेकिन उनके खिलाफ खेलना गर्व की बात है। लैंगर ने कहा कि धोनी का कैच दो बार छूटा। एक बार शून्य और दूसरी बार 74 रन पर। उनकी टीम ने इस गलती का खामियाजा भुगता। धोनी ने हमारे युवाओं को सिखाया कि कैसे खेलना चाहिए। यह हमारे बल्लेबाजों के लिए सबक था। दरअसल महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को खासा परेशान किया। लगातार तीन अर्धशतक लगाए और ऑस्ट्रेलिया की धरती पर टीम इंडिया को पहली बार वनडे सीरीज जीतने में बड़ी भूमिका निभाई। इसके बाद हर तरफ उनकी तारीफ हो रही है।

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.